अफगान का पाकिस्तान को बुरी तरह धोना

 

कहते है जो किसी और के लिए कुआ खोदता है, वो खुद उसमे गिर जाता है। ऐसा ही कुछ हो रहा है आज कल पाकिस्तान के साथ, जिस आतंकवाद को उसने पूरी सिद्दत से पाला था , आज उसी आतंकवाद के चलते वो खुद परेशान है । यहाँ तक की उसके भाई जैसे पडोसी मुल्क अफ्गंस्तान ने भी
, पाकिस्तान के बलोच बॉर्डर पर युद्ध शुरू कर दिया है । 1970 में जब अफगान बुरी तरह से गृह युद्ध से जूझ रहा था तब, पाकिस्तान ने ही वहा के ३० लाख शरणार्थियो को पनाह दी थी, और आज वही अफगान, पाकितान की हालत ख़राब किये हुए है ।
पाकिस्तान ये नहीं समझ पा रहा है, की जिस देश को वो कुछ नहीं समझता था, आज उसमे इतनी ताकत कहा से आ गई, की उसने पाकिस्तान जैसे परमाणु हथियार वाले मुल्क पर धावा बोल दिया है ।
दरसल , पाकिस्तान ये समझ रहा है की भारत के कहने पर अफगान, पाकिस्तान पर हम्ला कर रहा है ।
पाकिस्तान के इस संदेह को हम गलत भी नहीं मान सकते ।क्यो की पिछले काफी समय से भारत अफगान को आधुनिक हथियार देता रहा है, साथ हे वो अफगान की मिलिट्री को ट्रेनिंग भी देता रहा है ।
लेकिन पाकिस्तान को यह नहीं पता था की इस ट्रेनिंग का टेस्ट अफगानिस्तान, पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध कर के ही करेगा।
आज जब भारत के कारण पाकिस्तान पूरे साउथ एशिया में अलग थलग पड गया है, तब उसके पास सिर्फ एक चीन के अलावा कोई और साथी नहीं दिख रहा ।
जी हाँ वही चीन जिसकी रणनीति कहती है की वो किसी का सगा नहीं न हे कोई उसका सगा है ।
वो मौका परस्त चीन जो कभी भी पाकिस्तान को धोका दे सकता है ।
1947 में भारत से जयादा जीडीपी होने के बाद भी अगर आज पाकिस्तान की ये हालत है तो वो है सिर्फ , उसका आतंकवाद के खिलाफ नजरिया, जी हाँ पाकिस्तान ने आतंवाद को अपनी ताक़त बनाना चाहा, लेकिन वो भूल गया की आस्तीन का साप कभी भी काट सकता है ।
अमेरिकन आर्मी के दवारा अफगान से भागने के बाद , पाकिस्तान ही ऐसा मुल्क था जिसने तालिबान और लादेन जैसो को पनाह दी और आज यही कारण है की, विश्व पटल पर पाकिस्तान की साख इतनी गिर चुकी है की वर्ल्ड मैप में जहा देखो पाकिस्तान को दुश्मन ही नज़र आते है ।
और हो भी क्यों ना, जिस मुल्क ने अपने जनम से पहले ही बलूचिस्तान और कश्मीर जैसे आज़ाद मुल्को पर कब्ज़ा करना शुरू कर दिया हो , उसका भविष्य और क्या हो सकता है । आज भी जब पाकिस्तान के पास खाने को कुछ नहीं बचा तब भी वो अपने गोदाम हथियारों से भरना चाहता है ।
आज जब पाकिस्तान के ४ राज्य , अलग अलग होने की बगावत पर है , तभ भी वो अपनी आखे बंद किये हुए अपने पतन की कहानी लिखने की पूरी कोशिश में है, और हो भी क्यों न, जिसकी नीव ही जुर्म और नरसंघार पर राखी गई हो, उसका तो खुदा ही मालिक है ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s